वो सरदार होता है


शेरों में जज्बा होता है, जज्बात होता है,
तब जाके वो सरदार होता है.
दुनिया के लिए वो सिद्धू या बलराज होता है.
पर उसके दिल में बस,
वाहे गुरु का खालसा, वाहे गुरु का पंथ होता है.

 

परमीत सिंह धुरंधर

Advertisements