बनारस हिन्दू विश्विधालय (BHU)


बहुत काटा है पत्थरों को, तब जाके ये मूरत बनी है.
यूँ ही नहीं बनारस हिन्दू विश्विधालय (BHU) की ये नींव पड़ी है.

परमीत सिंह धुरंधर

Advertisements