अपने प्रिये मित्र प्रवीण को शादी की शुभकामानावों के साथ:


जीवन  के  इस  नए ,

खुबसूरत मोड़  पे ,

उम्मिद्दों  के  इस

नए  बरसात  में ,

इस  नयी  सुबह  की,

नयी  रौशनी  में ,

जब  आपके  कदम

आगे  बढे  , तो

कोई  आपके साथ होगा,

पीछे मुड़ने की,

जरुरत नहीं,

बस एक एहसास होगा,

कठिनाइयों को देख कर अब,

दोस्तों की याद नहीं,

बस  Crasaa उनका ख्ययाल होगा….

Advertisements